नागदा टाइम्स. खाचराैद

बीते नवंबर में बंद करंसी बदलवाने का काम अब भी जारी है। रविवार रात जीआरपी ने मुखबीर की सूचना पर दो लोगों को तकरीबन तीन लाख रुपए की पुरानी कंरसी के साथ पकड़ा है। आरोपियों में एक सेवा सहकारी संस्था भीकमपुर का सेल्समेन है। जबकि दूसरा एनआरआई  बताया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक बागपुरा निवासी शाकीर पिता अब्दुल सत्तार सेवा सहकारी संस्था भीकमपुर में सेल्समेन है। शाम 7 बजे वह बंद पुराने 1000-500 के करीब 3 लाख रुपए के नोटों से भरा बेग लेकर अपने एनआरआई दोस्त खत्रीपुरा निवासी सिद्दीक हुसैन पिता मो. युसूफ के साथ अवंतिका एक्सप्रेस ट्रेन से मुंबई जा रहा था। तभी मुखबीर ने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने तत्काल रेलवे स्टेशन दोनों युवको को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में युवको ने बताया कि वह यह पैसे मुंबई बदलवाने जा रहे थे। सूत्र बता रहे है कि शाकिर लोगों से पुरानी करंसी लेकर कमीशन बैस पर एनआरआई लोगों के माध्यम से करंसी बदलवाने का काम करता था।

Comments